कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लॉकडॉउन स देश में हजारों लोगों की नौकरियां चली गई थी. लोगों को वो भी काम करने पड़े जो उन्होंने कभी नहीं सोचे थे. किसी शिक्षक की जॉब छूट गई तो कहीं बच्चों की पढ़ाई खराब हो गई, तो उन्हें मजदूरी करने पड़ी. इसी तरह इस दौर से गुजरे कुछ लोगों ने नया काम शुरू करके मिसाल कायम कर दी है , उन्होंने कुछ ऐसा काम शुरू कर दिया जिससे सब हैरान रह गए. अरे यह इंसान ऐसे कैसे यह काम कर सकता है. इसी तरह की कहानी है अक्षय पारकर की. अक्षय कभी फाइव स्टार होटल में काम किया करते थे. जहां पर वह सीनियर शेफ के तौर पर कार्यरत थे, लेकिन अब नौकरी छूट जाने के बाद वह बिरयानी स्टॉल लगाते हैं.

 

फेसबुक पेज पर साझा की गई थी अक्षय की कहानी

अक्षय पारकर मुंबई के दादर की सड़क के पास बिरयानी स्टॉल लगाते हैं. फेसबुक के एक पेज ने उनकी कहानी साझा की थी. इससे पेज पर बताया गया कि , लॉकडाउन से पहले अक्षय मुंबई के ताज सत्स होटल जैसे 7 स्टार में शेफ के रूप में काम करते थे. अंतरराष्ट्रीय क्रूज में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रूज में लगभग 8 साल तक शेफ के रूप में कार्य किया. कोरोना वायरस में लॉकडाउन के बाद उनकी नौकरी चली गई थी. इसके बाद अब वह दादर में बिरयानी लगाते हैं. इसी बिरयानी स्टॉल से वह अपने परिवार का पालन पोषण कर रहे हैं.

सभी ने की अक्षय की तारीफ

फेसबुक पेज पर उनकी कहानी पढ़ने के बाद लोग उनके काम की सराहना कर रहे हैं. यहां तक लोग उनको इस काम के लिए बधाइयां दे रहे हैं. लोगों का कहना है कि वह इस तरह नया काम शुरू कर के लोगों को प्रेरित कर रहे हैं. जो लोग छोटा सोचते हैं, छोटा कर पाते हैं लेकिन जिनकी सोच बड़ी होती है वह बड़ा करते हैं. अक्षय पहले बड़े बड़े होटल में काम करते थे, इसके बावजूद उन्होंने खुद का कारोबार शुरू किया. अक्षय आज लोगों को काम करने की हिम्मत दे रहे हैं.