मात्र 8 वर्ष की मासूम के साथ दिल दहला देने वाली वारदात के बाद रविवार को पूरे गांव में शोक का माहौल बना हुआ है. नम आंखों के साथ मासूम को विदाई दी गई. इसके अलावा पूरे गांव में चूल्हा नहीं जलाया गया. राजस्थान के प्रतापगढ़ से एक ऐसी घटना सामने आई है, जिसने एक बार फिर इंसानियत को शर्मसार कर दिया. इस हैवानियत की घटना ने हर किसी को अंदर से झकझोर दिया है. प्रदेश में हो रही लगातार इस तरह की घटनाओं ने एक बार फिर सरकार को कटघरे में लाकर खड़ा किया है.

 

 

परिजनों व ग्रामीणों ने किया अंतिम संस्कार करने से इनकार

दिल दहला देने वाली इस घटना के बाद ग्रामीणों में इतना ज्यादा गुस्सा भर चुका है कि सभी मासूम के अंतिम संस्कार से पहले ही आरोपियों की तलाश करके उन्हें फांसी की सजा दिलाने की मांग कर रहे हैं. रविवार की सुबह ही मासूम के परिजनों और ग्राम वासियों ने मासूम का अंतिम संस्कार दरिंदों को गिरफ्तार नहीं करने तक इंकार कर दिया. जब तक दरिंदों को फांसी नहीं हो जाती तब तक बच्चे का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया है.

सीआई रविंद्र प्रताप सिंह, उपनिरीक्षक बलवंत सिंह चूंडा ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत किया और परिजनों व ग्रामीणों को समझाकर मासूम का अंतिम संस्कार करवाया है. मामले की जांच शुरू हो गई है और चित्तौड़गढ़ से डॉग स्क्वायड की टीम भी मंगवाई है. मामले की गंभीरता देखते हुए पुलिस ने गांव के कुछ लोगों को हिरासत में भी ले लिया है.

बच्ची के परिजन और ग्रामीण जब मासूम बच्चे को अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहे थे तब मासूम की मां और पिता और उसके छोटे भाई बहन दुख की वजह से अपना सुध बुध खो चुके थे. सभी तेज तेज से रो रहे थे और बच्ची की मां भी फूट फूट कर रो रही थी. जैसे ही उनकी प्यारी बच्ची की अर्थी घर से उठी तो पूरे गांव में सन्नाटा छा गया. परिजनों की रोने की आवाज सुनाई दे रही थी. गांव में हर किसी की आंखें नम हो चुकी थी. गांव के श्मशान में बच्चे का अंतिम संस्कार किया गया. जिसमें परिजनों और ग्रामीण के अलावा पुलिस भी मौजूद थे.

 

 

दुष्कर्म के बाद बच्ची की हत्या

8 साल की मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी. उसके सिर पर भी चोटों के निशान पाए गए. पिता ने अज्ञात के खिलाफ थाने में रिपोर्ट भी दर्ज करवाई. पुलिस अभी तक आरोपी का पता नहीं लगा पाई है. घटना को लेकर लोगों में काफी गुस्सा भरा हुआ है. पुलिस ने आरोपी की तलाश भी शुरू कर दी है. शनिवार की रात में बच्ची का पोस्टमार्टम होने के बाद शव गांव पहुंचाया गया जहां पर श्मशान में उसका अंतिम संस्कार किया गया. एसपी ने पुलिस थाने में पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक करके घटना के बारे में विस्तृत चर्चा की.